GMCH STORIES

भारतीय लोक कला मण्डल ‘नृत्यांजलि’’ ने मनमोहा

( Read 1451 Times)

21 Sep 23
Share |
Print This Page

भारतीय लोक कला मण्डल ‘नृत्यांजलि’’ ने मनमोहा

उदयपुर | भारतीय लोक कला मण्डल में स्व. श्री रियाज़ अहमद तहसीन की स्मृति में ‘‘नृत्यांजलि’’ कार्यक्रम का रंगारंग आयोजन हुआ।

भारतीय लोक कला मण्डल के निदेशक डॉ. लईक हुसैन ने बताया कि भारतीय लोक कला मण्डल के पूर्व मानद सचिव एवं पूर्व उपाध्यक्ष स्व. रियाज़ अहमद तहसीन साहब की जयंती के अवसर पर भारतीय लोक कला मण्डल, उदयपुर द्वारा ‘‘नृत्यांजलि’’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के प्रारम्भ में मुख्य अतिथि दुला राम सहारण, संस्था निदेशक तथा गणमान्य अतिथियों ने स्व. श्री रियाज़ तहसीन की तस्वीर पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलित किया। उसके पश्चात् संस्था निदेशक ने कार्यक्रम में पधारे सभी अतिथियों, मेहमानों एवं कलाकारों का स्वागत करते हुए कहा कि स्व. रियाज़ तहसीन एक  सामाजिक कार्यकर्ता, शिक्षाविद्, कला मर्मज्ञ, उद्योगपति, गाँधीवादी विचारक थे। वे शहर की अन्य कई संस्थाओं से जुड़े हुए थे किन्तु भारतीय लोक कला मण्डल के प्रति उनका विशेष स्नेह था। वे आजीवन भारतीय लोक कला मण्डल के विकास एवं उत्थान के लिए प्रयत्नशील रहे। उनका निधन हो जाने से कला मण्डल परिवार को अपार क्षति हुई है। उनकी याद सदैव कला मण्डल, कला प्रेमियों, शिक्षा जगत एवं समाज में बनी रहे और इसी उद्वेश्य से भारतीय लोक कला मण्डल द्वारा उनकी जयंति के अवसर पर प्रति वर्ष कार्यक्रम का आयोजन करना प्रारम्भ किया गया है और इसी क्रम में इस वर्ष दिनांक 20 सितम्बर 2023 को उनकी जयंती के अवसर पर भारतीय लोक कला मण्डल द्वारा ‘‘नृत्यांजलि’’ कार्यक्रम का आयोजन हुआ।

उसके पश्चात् उदयपुर की रंगपृष्ठ संस्था के कलाकारों द्वारा श्रीमती शिप्रा चटर्जी के निर्देशन में शास्त्रीय नृत्य शैली में तैयार की गई कृष्ण की बाल लीलाओं जैसे माखन चोरी, गोवर्धन पर्वत तथा कालिया मर्दन को बहुत ही सुंदर तरीके से प्रस्तुत किया। कार्यक्रम के दौरान दर्शकों ने जोरदार तालियों से कलाकारों का उत्सावर्धन किया। कार्यक्रम के अंत में गणमान्य अतिथियों ने कलाकारों को मोमेंटो एवं माल्यार्पण कर स्वागत किया। इस कार्यक्रम में मुख्य कलाकार अहाना ज़कारिया, सुहानी चौधरी, किंजल पण्डित, अनुषा शर्मा, रीना बागड़ी तथा ज्योती माली थीं तथा  वेशभूषा अनुकम्पा लईक़, रूपसज्जा लुबना ख़ान तथा संगीत प्रबुद्ध पाण्डेय का था। 


Source :
This Article/News is also avaliable in following categories : Udaipur News
Your Comments ! Share Your Openion

You May Like